1. home
  2. news
  3. Detail

ITI कोर्स के बाद करियर ऑप्शंस

image description

आईटीआई कोर्स के बाद करियर ऑप्शंस

यदि आप एक आईटीआई छात्र हैं या फिर आईटीआई कोर्स करने की योजना बना रहे हैं तो हमेशा एक सवाल आपके जेहन में आता है और वो है कि आखिर आईटीआई करने के बाद हमें जॉब मार्केट में किस तरह की जॉब मिलेगी? आईटीआई करने के बाद जॉब की क्या संभावनाएं हैं ? जॉब मार्केट में आजकल एकेडमिक डिग्री के सामान ही स्किल्स को भी वरीयता दी जाती है. भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे स्किल इण्डिया जैसे प्रोग्राम की वजह से भी देश के युवाओं द्वारा स्किल डेवेलपमेंट पर विशेष रूप से ध्यान देने की आवश्यकता महसूस की गयी है. ऐसे स्किल्स डेवेलपमेंट प्रोग्राम्स की वजह से युवाओं और संस्थाओं की उत्पादक क्षमता बढ़ी है. यही कारण है कि भारत के किसी भी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे या फिर प्रशिक्षण ले रहे छात्रों के पास रोजगार के भरपूर अवसर के साथ उत्कृष्ट करियर की संभावनाएं हैं. 

 आईटीआई पाठ्यक्रम की लोकप्रियता

परंपरागत रूप से, आईटीआई पाठ्यक्रम ज्यदातर ग्रामीण परिवेश के छात्रों के बीच अधिक लोकप्रिय है. इस पाठ्यक्रम की लोकप्रियता का मुख्य कारण इंजीनियरिंग या गैर-इंजीनियरिंग ट्रेडों में इसके द्वारा डिजाइन स्किल डेवेलपमेंट से जुड़े सिलेबस तथा कोर्सेज पर विशेष रूप से ध्यान देना है.

आईटीआई पाठ्यक्रम के बाद करियर विकल्प

21 वीं शताब्दी कौशल और ज्ञान की सदी है; ऐसे प्रोफेशनल्स जिनके पास विशेष कौशल है या उनके पास सही ज्ञान है और उन्हें लागू करने का सही तरीका पता है, आई टी आई को अन्य टेक्नीकल कोर्सेज की तुलना में कम आंकते हैं तो वे सर्वथा गलत हैं. आजकल के बढ़ते बेरोजगारी के दौर में  सही कौशल सेट और प्रशिक्षण आईटीआई छात्रों के पास उच्च शैक्षणिक योग्यता रखने वाले उम्मीदवारों के वनिस्पत रोजगार के अधिक अवसर उपलब्ध हैं.

 अब यदि करियर अवसर की बात की जाय तो आईटीआई के छात्रों के पास मुख्यतः तीन विकल्प मौजूद हैं. पहला हायर एजुकेशन के लिए जाएं, दूसरा सरकारी नोकरी की तैयारी या फिर निजी क्षेत्र मे नौकरी की तलाश करें.

आईटीआई छात्रों के लिए आगे चलकर मिलने वाले अध्ययन विकल्प

डिप्लोमा पाठ्यक्रम

 उन छात्रों के लिए जिन्होंने टेक्नीकल बिजनेस या इंजीनियरिंग डोमेन में आईटीआई प्रशिक्षण लिया है,कई इंजीनियरिंग डिप्लोमा पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं. आईटीआई पाठ्यक्रमों के विपरीत, डिप्लोमा इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम डोमेन में विषय के सैद्धांतिक और व्यावहारिक दोनों ही पहलुओं के विवरण पर जोर दिया जाता है.

B-Tech degree courses:-

राज्य व केंद्र सरकार की नयी निति के अनुसार  दो वर्षीय आईटीआई  कोर्स उतीर्ण छात्र को 10+2 गणित विष्य के समक्ष मान्य है जो B-Tech degree मे एडमिशन के लिए योग्य है अत: आईटीआई उतीर्ण छात्र B-Tech degree अथवा  B VOC degree कोर्स भी कर सकता है !

स्पेशलाइज्ड शॉर्ट टर्म कोर्सेज

कुछ विशिष्ट व्यापारों से आईटीआई छात्रों के लिए, उन्नत प्रशिक्षण संस्थान (एटीआई) विशेष अल्पकालिक पाठ्यक्रम प्रदान करती है. ये पाठ्यक्रम छात्रों को अपने कौशल और अधिक बढ़ाने में मदद करते हैं, इससे संबंधित डोमेन में अपने नौकरी प्रोफाइल या उद्योग की आवश्यकताओं की पूर्ति आसानी से की जा सकती है.

ऑल इंडिया ट्रेड टेस्ट

आईटीआई पाठ्यक्रम के पूरा होने के बाद आईटीआई छात्रों के लिए एक और विकल्प एआईटीटी या ऑल इंडिया ट्रेड टेस्ट के लिए जाना है. ऑल इंडिया ट्रेड टेस्ट एनसीवीटी (व्यावसायिक प्रशिक्षण के लिए राष्ट्रीय परिषद) द्वारा आयोजित किया जाता है. यह परीक्षा वस्तुतः एक स्किल टेस्ट है जो  आईटीआई छात्रों को सर्टिफाई करता है. एआईटीटी पास करने के बाद, छात्रों को एनसीवीटी द्वारा संबंधित व्यापार में राष्ट्रीय व्यापार प्रमाणपत्र (एनटीसी) से सम्मानित किया जाता है. बहुत सारे इंजीनियरिंग ट्रेड्स में एनटीसी डिप्लोमा, डिग्री के बराबर है.

रोजगार के अवसर

अन्य प्रोफेशनल्स और व्यावसायिक पाठ्यक्रम संस्थान की तरह आईटीआई का भी एक समर्पित  प्लेसमेंट सेल है जो छात्रों की नियुक्ति की देखभाल करता है. इन प्लेसमेंट सेलों में विभिन्न सरकारी संगठनों, निजी कंपनियों और यहां तक ​​कि विदेशी कंपनियों के साथ समझौता किया जाता है जिसके तहत छात्रों को कई सारे बिजनेस तथा ट्रेड्स में हायर किया जाता है.

सार्वजनिक क्षेत्र (पब्लिक सेक्टर) की इकाइयों में नौकरी

 आईटीआई छात्रों का सबसे बड़ा नियोक्ता सार्वजनिक क्षेत्र या सरकारी एजेंसियां ​​है. जिन छात्रों ने अपना आईटीआई पूरा कर लिया है वे RSEB,रेलवे, टेलीकॉम / बीएसएनएल, आईओसीएल, ओएनसीजी, राज्यवार पीडब्ल्यूडी और अन्य जैसे विभिन्न सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों / पीएसयू में रोजगार की तलाश कर सकते हैं. इसके अलावा, वे भारतीय सशस्त्र बलों यानी भारतीय सेना, भारतीय नौसेना, वायुसेना, बीएसएफ, सीआरपीएफ और अन्य अर्धसैनिक बलों में भी अपना करियर बना सकते हैं.

 निजी क्षेत्र (प्राइवेट सेक्टर) में नौकरी

 निजी क्षेत्र, विशेष रूप से विनिर्माण और मैकेनिक्स में काम करने वाले लोग व्यापार विशिष्ट नौकरियों के लिए आईटीआई छात्रों की तलाश करते हैं. इसके अतिरिक्त निर्माण, कृषि, कपड़ा, ऊर्जा आदि जैसे प्रमुख क्षेत्रों में आईटीआई छात्रों को आकर्षक करियर के अवसर मिल सकते हैं. जहां तक ​​विशिष्ट नौकरी प्रोफाइल का संबंध है तो  इलेक्ट्रीशियन, डीजल मैकेनिक निजी क्षेत्र में आईटीआई छात्रों के लिए सबसे अधिक मांग किए जाने वाले स्किल्स हैं.

 स्व रोजगार

 यह शायद आईटीआई पाठ्यक्रम का चयन करने का सबसे महत्वपूर्ण लाभ है, क्योंकि यह किसी को भी अपना व्यवसाय शुरू करने और स्वयं-नियोजित होने की अनुमति देता है.

 आजकल हमें प्रशिक्षित और योग्य इलेक्ट्रीशियन,मैकेनिक,प्लंबर, कारपेंटर, निर्माण कार्यकर्ता, कृषि श्रमिकों आदि की बहुत  कमी देखने को मिलती है. आईटीआई प्रमाण पत्र वाले छात्रों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है कि वे अपना खुद का व्यवसाय शुरू करें और स्वयं-नियोजित रहें.

 विदेशों में भी नौकरी की संभावना

 आईटीआई छात्र अपने पाठ्यक्रम के पूरा होने के बाद विदेशों में भी रोजगार के अवसर तलाश सकते हैं. भारत की भांति ही अन्य देशों में भी इस तरह के टेक्नीकल स्किल्स वाले लोगों की बहुत ज्यादा मांग है.


Copyright © 2019 Shree Balaji Pvt ITI, JAIPUR